keyword kya hai-केयवोर्ड क्या है Hindi मे

 Keyword kya hai? What is Keyword? In Hindi:एक Blogger को Keyword kya hai? पता होना सहिए। हर एक blogger जो Blog Post लिखते है उन्हे keyword  kya hai और SEO मे इसका किया benefits है.  ये जानना जरूरी है.

keyword research के जरिये ही ये पता कर सकते है की search engine मे सबसे ज्यादा कोन सा keyword को  search किया जाता है।

और इन popular keyword को आपने content मे add करके search engine मे high rank प्रत्प्त कर सकते है।

keyword research SEO के लिए बहत ही जरूरी होता है. और सही keyword से हम अपने ब्लॉग को search engine मे rank भी करवा सकते है.

आज इस guide मे हम Keyword kya hai? keyword के परिभासा क्या है? keyword density kya hai ? इन सभी सबालों को बिस्तर मे जाने की कोसिस करेंगे।

जानिए Domain name क्या होता है? 

Keyword kya hai?- What is keyword?

keyword ka matlab:- जब हम किसी भी जान कारी को ढूंढ ने के लिए इंटरनेट पर उससे जूरी “word”या “pharse” को search करते है तो उशी “word” या “phrase” को ही keyword कहा जाता है।

ये short भी हो सकता है और long भी हो सकता है। ये आके लोगो के ऊपर निरवर करता है की उसे किया जानकारी जाहिए।

आगर आप इस post को google के madhyam से पढ़ रहे है तो आप इस पोस्ट तक पाहूसने के लिए keyword का इस्तेमाल किया है।

आप जेसे ही google मे search किया है “keyword kya hai?”या “What is Keyword in Hindi?” तो ये भी एक Keyword ह।

आप कुसभी नया जाने केलिए Google, Bing, DUCKDUCKGO आदि पर जो भी search करते है सहे वो Wrod हो या Pharse हो उन सभी को ही keyword कहा जाता है।

Blogging, SEO,Search engine के भासा मे आप जो भी internet पर टाइप करनेगे उन सभी keyword ko hindi mein सूचक शब्द kehte hain.

जानिए blogger के बरेमे पूरी जानकारी Hindi मे 

keyword की परिभासा -what is meaning of keyword?

एक keyword word या एक Phrase होता है जो ये दरसाता है की post मे किस बारेमे लिखा गया है या की बिषय को दरसता है।

एक keyword के जरिये ही ये पता कर सकते है की web page मे किस तरह के content मिल सकते है या किस content को दरसता या बर्ण किया गया है।

एक keyword ही web page मे माजूद सभी जकरिओ को दरसाता है, keyword के  मदद से ही search engine user को उसके data को show करता है search engine result page (SERP) पर।

seo kya hai”,”What is SEO and How SEO work?” इन दोनों pharse को जब आप google search engine मे search करनेगे, तो जो SERP पर show करेंगे उन सभी मे ये Phrase मे इसे keyword के रूप मे show करेगा।

SERP मे show करे हौवे सभी post मे “SEO” को focus keyword लेकर लिखा गया है। इन सभी article मे “SEO” को keyword बना कर target किया है। इसीलिए इस तरह के keyword को focus keyword या targeted keyword भी कहा जाता है

WordPress vs Blogger मे कोण सी बेहतर है?

Keyword के प्रकार – Types of Keyword

keyword को search volume के ऊपर bsed करे दो भाग पर बीभक्त किया गया है।

1.short tail keyword 

2.Long tail keyword  

1.short tail keyword:- short tail keyword मे 1या 3 word होते है। जेसे- “keyword research“,”Free keyword research”,”keyword research hindi“.

इन  सभी तरह के keyword जो 2 या 3 word के अंदर होते है उनही keyword को short tail keyword कहा जाता है।

2.long tail keyword:- long tail keyword के length 3 word से अधिक होती है। जेसे- “what is SEO and How it work in hindi?”,”SEO किया है और ये कैसे काम करता है?

इन सभी तरह के Phrase(keyword) को ही long tail keyword कहते है।

LSI keyword kya hai?

LSI का full form है Latent semantic indexing. LSI keyword मे उन keyword को लिया जाता है जो आपके main keyword या focus keyword से मिलते जुलते keyword होते है।

Google पर जब आपके web page indexing होते है तब google bots आपके keyword के अलबा बाकी के keyword को भी check करता है जो google पर search किया जाता है।

उन keyword को आपके post मे धुंदता है जिससे उन्हे आसानी से पता सालजता है की आपके पोस्ट किस बारेमे है।  और इससे आपके पोस्ट google पर जल्दी रंक भी करता है।

Keyword density क्या है?- what is keyword density in hindi?

एक article या एक post मे जीतने बार बार main keyword या कहे targeted keyword को इस्तेमाल क्या है, उसे ही keyword density कहा जाता है।

उदाहरण के तर पर- आगर एक 100 word का article मे main keyword को 2 बार इस्तेमाल किया गाय है तो इसमे keyword का density 2% होता है।

keyword density कितने होने साहिए?

अजब एक seo friendly Blog Post लिखे तो उसमे keyword के density 2% होना  साहिए.

जब भी google के bots आपके page को crawl करते है तो वो keyword के density को check करते है. keyword density के ऊपर ही google एक SEO friendly article को रंक करवाता है।

आगर एक article मे keyword के density ज्यादा होते है तो इसे keyword Stuffing कहते है.

जब article मे keyword के stuffing होते है तो उस आर्टीक्ले कों गूगले कभी भी search engine result page पर  show नेही करवाता है।

keyword के density कैसे check करे?- How check keyword density in hindi ?

keyword density चेक करेने के लिए wordcounter.net website पर जा कर free मे keyword के density को check कर सकते है?

और google docs पर SEO Content Writing tool का install करके भी keyword density को check कर सकते है।

साथ ही google docs पर इस tool के मदद से free मे ही SEO friendly article लिख सकेंगे।

keyword placement कैसे करे?

जब post लिखने की बात आते है तो दिक्कत आते है की keyword को place कैसे करे?  कियूकी एक article लिखने के लिए keyword की placement सही से करना बहत ही जरूरी है.

  • Title पर Keyword को place करे। 
  • permalink पर keyword को place करे। 
  • image की alt tage और image की title पर भी keyword को place करे. 
  • meta description या Search description पर भी keyword की place करे। 
  • article की पहले paragraph और पूरी article मे keyword के density को ध्यान मे रख कर keyword को placement करे। 
  • article की heading (H1,H2,H3) पर भी keyword की प्लेस करे। 

इन सभी point को ध्यान मे रख कर keyword के placement करे। साथ ही keyword के density को भी ध्यान मे रेखे।

और article लिखते सामी  keyword stuffing ना करे।

Coclusion

दोस्तो आपको हामारे इस article  keyword  kya hota hai? जरूर पसंद आए होंगे।

मेरा आप सभी लोगो से गुजारिस है की आप लोग भी इस जानकारी को अपने आस-पड़ोस, रिश्तेदारों, अपने मित्रों में Share जरूर करें। . मुझे आप लोगों की सहयोग की आवश्यकता है जिससे मैं और भी नयी जानकारी आप लोगों तक पहुंचा सकूँ.

मेरा हमेशा से यही कोशिश रहा है की मैं हमेशा अपने  पाठकों का हर तरफ से हेल्प करूँ, यदि आप लोगों को किसी भी तरह की कोई भी doubt है तो आप मुझे बेझिजक पूछ सकते हैं. मैं जरुर उन Doubts का हल निकलने की कोशिश करूँगा.

ध्यानाबाद … ज्ञान गृह 

Leave a Comment

%d bloggers like this: